Join Telegram group Join Now
WhatsApp Group (Join Now) Join Now

HDFC Bank News Update: HDFC Bank News ने ग्राहकों की बढ़ा दी टेंशन, अब इस काम के लिए देने होंगे ज्यादा पैसे। 

HDFC Bank News Update: HDFC Bank News ने ग्राहकों की बढ़ा दी टेंशन, अब इस काम के लिए देने होंगे ज्यादा पैसे। 

HDFC Bank News Update:

अगर आप भी HDFC बैंक के ग्राहक है तो जरूर पढ़ लें ये खबर क्योंकि HDFC बैंक ने MCLR के रेट को बढ़ा कर ग्राहकों की टेंशन को बढ़ा दिया है | कितनी बढ़ी है MCLR दरें और ग्राहकों पर  पड़ा कितना असर, आइये जानते हैं 

HR Breaking News, New Delhi : प्राइवेट सेक्टर के HDFC Bank ने ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है. अगर आपका भी इस बैंक में खाता है तो यह आपके लिए जरूरी खबर है. बैंक ने चुनिंदा लोन की अवधि पर MCLR के रेट्स में इजफा कर दिया है. बैंक के इस फैसले के बाद में ग्राहकों के लोन की ईएमआई बढ़ सकती है. बैंक ने बताया है कि नए रेट्स आज से यानी 8 जनवरी से लागू हो गए हैं. 

यह भी पढ़ें:- https://starbseb.in/jio-new-5g-plans/

HDFC Bank की वेबसाइट के मुताबिक, बैंक की MCLR रेंज 8.80 फीसदी से 9.30 फीसदी के बीच है. ओवरनाइट एमसीएलआर में 10 बेसिस प्वाइंट का इजाफा हो गया है, जिसके बाद में यह दर 8.70 फीसदी से बढ़कर 8.80 फीसदी हो गई है. 

HDFC Bank News Overview

Name of the Article  HDFC Bank News
Type of the Article HDFC Bank News ने ग्राहकों की बढ़ा दी टेंशन
OFFICIAL WEBSITE Star Gurukul 
Detailed Information  Please Read The Article Completely

कितने बदल गए MCLR Rates?

इसके अलावा बैंक ने एक महीने का एमसीएलआर 5 बीपीएस बढ़कर 8.75 फीसदी से 8.80 फीसदी कर दिया है. तीन महीने की एमसीएलआर 8.95 फीसदी से बढ़ाकर 9 फीसदी हो गई है. छह महीने की एमसीएलआर भी बढ़कर 9.20 फीसदी हो गई है. इसके अलावा एक साल की MCLR 5 बीपीएस बढ़कर 9.20 फीसदी से 9.25 फीसदी हो गई है. वहीं, 3-साल का एमसीएलआर 9.30 फीसदी पर ही है. 

क्या होता है MCLR?

आपको बता दें MCLR का मतलब होता है Marginal Cost of Funds Based Lending Rate. यह वह न्यूनतम दर होती है जिसके नीचे कोई भी बैंक ग्राहकों को लोन नहीं दे सकता है. MCLR रेट्स जितने बढ़ते हैं उतना ही ब्याज भी ऊपर हो जाता है. कों के लिए हर महीने अपना ओवरनाइट, एक महीने, तीन महीने, छह महीने, एक साल और दो साल का MCLR जारी करना जरूरी होता है. 

बढ़ जाती है लोन की दर:

अगर कोई भी बैंक MCLR के रेट्स में इजाफा करता है तो इसका मतलब होता है कि मार्जिनल कॉस्ट से जुड़े लोन जैसे- होम लोन, व्हीकल लोन की ब्याज दर बढ़ जाती है. एक बात का आपको ध्यान रखना चाहिए कि एमसीएलआर बढ़ने पर लोन के ब्याज की दर तुरंत नहीं बढ़ती है बल्कि लोन लेने वालों की EMI रीसेट डेट पर ही आगे बढ़ती है. 

कई बैंक बढ़ा चुके हैं दरें-

हाल ही में एसबीआई और इंडियन बैंक समेत कई बैंकों ने एमसीएलआर की दरों में इजाफा कर चुकी है. इंडियन बैंक ने एमसीएलआर रेट्स में 0.05 फीसदी का इजाफा किया है. बैंक की ये दरें 3 जनवरी से लागू हैं। 

 

Some Important Links

OFFICIAL WEBSITE  CLICK HERE 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page